पुणे टी-20 में 2-0 की जीत के लिये उतरेगा भारत

AajNoida 01/09/2020 खेल

 पुणे। विराट कोहली की अगुवाई वाली भारतीय क्रिकेट टीम पुणे में शुक्रवार को तीसरे और अंतिम ट्वंटी 20 मुकाबले में श्रीलंका के खिलाफ जीत के साथ सीरीज़ में 2-0 की जीत के लक्ष्य के साथ उतरेगी।

 
गुवाहाटी में पहला मैच रद्द रहने के बाद तीन मैचों की सीरीज़ में भारत 1-0 की बढ़त बना चुका है। इंदौर में उसने दूसरा ट्वंटी 20 सात विकेट से जीता था। भारतीय टीम अब पुणे के महाराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम में शुक्रवार को अंतिम ट्वंटी 20 मुकाबले में जीत दर्ज कर सीरीज़ को 2-0 से अपने नाम करना चाहेगी। वहीं मेहमान श्रीलंकाई टीम की कोशिश होगी कि वह सीरीज़ को 1-1 से बराबर कर इस प्रारूप में अपनी लगातार पांचवीं हार की शर्मिंदगी से बच सके।
 
इस वर्ष आस्ट्रेलिया में होने वाले आईसीसी ट्वंटी 20 विश्वकप के लिये भारतीय टीम अपने सर्वश्रेष्ठ संयोजन को तलाशने में जुटी है और युवा खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर उसकी निगाहें लगी हैं। इंदौर ट्वंटी 20 मैच में भी टीम के युवा खिलाड़ियों खासकर गेंदबाज़ नवदीप सैनी, शार्दुल ठाकुर, वाशिंगटन सुंदर का प्रदर्शन प्रभावशाली रहा था।
 
इस मैच में कप्तान विराट ने अनुभवी लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा पर सुंदर को तरजीह देकर अंतिम एकादश में मौका दिया था और पुणे में भी वह अपने एकादश में कुछ अन्य बदलावों के साथ उतर सकते हैं। विराट लगातार इस बात की पैरवी कर रहे हैं कि युवा और नये खिलाड़ियों को अधिक मौके दिये जाना ज़रूरी है।
 
हालांकि पुणे के महत्वपूर्ण मुकाबले में जडेजा की वापसी संभव है जो पिछले दोनों मैचों से बाहर रहे थे। यदि भारत तीसरे मैच में छठे गेंदबाजी विकल्प के साथ उतरता है तो जडेजा को शिवम दुबे की जगह लिया जा सकता है, जिन्हें दूसरे मैच में गेंदबाजी करने का मौका नहीं मिला।भारतीय टीम के पास मजबूत गेंदबाजी और बढ़िया बल्लेबाज़ी क्रम है और विश्वकप के मद्देनज़र हर खिलाड़ी व्यक्तिगत रूप से अपने प्रदर्शन से प्रभावित करने की जुगत में लगा है। बल्लेबाज़ों की बात करें तो ओपनर लोकेश राहुल बढ़िया फार्म में चल रहे हैं और पिछले मैच में भी उन्होंने 45 रन की बड़ी पारी खेली थी। राहुल ने पिछली चार ट्वंटी 20 पारियों में दो अर्धशतक लगाये हैं जिसमें 62 और 91 रन की पारियां शामिल हैं।
रोहित शर्मा की अनुपस्थिति में राहुल ओपनिंग में बढ़िया बल्लेबाजी कर रहे हैं और पावरप्ले में बड़े स्कोरर हैं। वहीं उनके जोड़ीदार शिखर धवन भी चोट के बाद टीम में वापसी कर रहे हैं अौर सहजता से खेल रहे हैं। धवन ने पिछले मैच में 32 रन बनाये थे और उनसे ओपनिंग में बड़ी पारी की अपेक्षा रहेगी। मध्यक्रम में सबसे मजबूत खिलाड़ी कप्तान विराट हैं जिन्होंने इंदौर में श्रेयस को अपने तीसरे क्रम पर उतारा और खुद चौथे नंबर पर खेलने उतरे थे।
विराट ने 17 गेंदों में नाबाद 30 रन में दो छक्के और एक चौका लगाया और ट्वंटी 20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे तेज़ 1000 रन बनाने वाले बल्लेबाज़ भी बन गये हैं। उनकी फार्म को लेकर वैसे भी कभी कोई संदेह नहीं रहा है। लेकिन श्रेयस और विकेटकीपर रिषभ पंत की फार्म पर प्रबंधन की निगाह रहेगी। आलोचकों के निशाने पर रहने वाले पंत को हालांकि इंदौर में पिच पर देर तक टिकने का ज़रूरत नहीं पड़ी थी लेकिन पुणे में ज़रूरत पड़ने पर उनसे जिम्मेदारी निभाने की अपेक्षा होगी।
गेंदबाज़ों में वाशिंगटन सुंदर, सैनी और ठाकुर के अलावा वापसी कर रहे जसप्रीत बुमराह के रूप में टीम के पास बढ़िया क्रम है, वहीं स्पिनरों में कुलदीप यादव उपयोगी हैं। कप्तान विराट ने पिछने मैच में सुंदर, सैनी और तीन विकेट लेने वाले ठाकुर के खेल पर खुशी जताई थी और इसे टीम के लिये सकारात्मक बताया था।
भारतीय टीम को हालांकि पुणे में श्रीलंका से सावधान रहना होगा। वर्ष 2017 में भारत को आखिरी बार इस मैदान पर श्रीलंका से ही शिकस्त झेलनी पड़ी थी, वहीं इस पिच पर मेहमान टीम को मदद मिलने की उम्मीद जताई जा रही है। लेकिन टीम के ऑलराउंडर इसुरू उदाना पीठ में चोट लगा बैठे हैं और पुणे में नहीं खेल पाएंगे जो उसके लिये चिंता की बात है।
श्रीलंका के पास वानिंदू हसरंगा, लाहिरू कुमारा और दासुन शनाका जैसे अच्छे गेंदबाज़ हैं, इनका पिछले मैच में किफायती प्रदर्शन रहा था लेकिन कप्तान लसित मलिंगा 4 ओवर में 41 रन देकर सबसे महंगे रहे थे। बल्लेबाज़ों में कुशल परेरा, दानुष्का गुनाथिलाका, अविष्का फर्नांडो के रूप में बढ़िया बल्लेबाज़ मौजूद हैं और सीरीज़ में बराबरी के लिये उलटफेर कर सकते हैं।