Guru purnima 2019: गुरु पूर्णिमा पर दो ग्रहों का विशेष संयोग, इस मुहूर्त में करें गुरू पूजन

AajNoida 07/15/2019 ज्योतिष

 आषाढ़ मास की पूर्णिमा के दिन हर साल गुरु पूर्णिमा ( guru purnima 2019 ) मनाया जाता है। 16 जुलाई, मंगलवार के दिन गुरु पूर्णिमा का उत्सव मनाया जाएगा। सालभर में आने वाली पूर्णिमाओं में से गुरु पूर्णिमा ( guru purnima ) को सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। इसी दिन महर्षि वेदव्यास जी का जन्म भी हुआ था। इस दिन सभी शिष्य अपने गुरुओं की सेवा करते हैं।

 
इस बार गुरु पूर्णिमा का महासंयोगों (mahasanyog ) के बीच आ रही है, इसलिए इसका विशेष महत्व है। पंडित रमाकांत मिश्रा ने बताया कि, गुरु पूर्णिमा पूर्वा साढ़ नक्षत्र, मित्र योग में दो ग्रह धनु और मकर राशि की संधि में पड़ रही है। इसी दिन चंद्रग्रहण (chandra grahan 2019 ) भी पड़ रहा है, जिसके कारण यह महापूर्णिमा का विशेष संयोग बना रहे हैं।
 
गुरू पूर्णिमा शुभ मुहूर्त
 
जुलाई 16, 2019 को 01:50:24 से पूर्णिमा आरम्भ, जुलाई 17, 2019 को 03:10:05 पर पूर्णिमा समाप्त
 
चंद्र ग्रहण का समय
 
16 जुलाई को शाम 5 बजे से सूतक लग जाएगा। चंद्रग्रहण रात 1:30 बजे से 4:30 बजे तक पड़ेगा।
 
गुरु पूर्णिमा के दिन ऐसे करें पूजन
 
गुरु पूर्णिमा के दिन सुबह जल्‍दी उठकर दैनिक क्रिया से निवृत्‍त होकर स्‍नान कर लें। उत्तम और शुद्ध वस्त्र धारण करें। इसके बाद भगवान विष्णु, शिवजी की पूजा करने बाद गुरु बृहस्पति, महर्षि वेदव्यास की पूजा करें इसके बाद अपने गुरु की पूजा करें। इसके बाद इन्हें सुगन्धित फूल या माला चढ़ाकर अपने गुरु को प्रणाम करें। घर की उत्‍तर दिशा में सफेद वस्‍त्र पर गुरु का चित्र रखें। गुरु को फूलों की माला पहनाएं, मिठाई से भोग लगाएं एवं आरती उतारकर उनसे आशीर्वाद ग्रहण करें।