घर पर ही ऐसे बनाएं कच्ची हल्दी का स्वादिष्ट अचार

    अपने एंटीसेप्टिक गुणों की वजह से हल्दी न सिर्फ स्किन के कटने आदि पर, बल्कि त्वचा के लिए भी बहुत फायदेमंद होती है। खांसी में आराम पहुंचाने वाली हल्दी आपको गोरा भी बनाती है। लेकिन क्या आपको पता है कि कच्ची हल्दी का अचार भी बहुत स्वादिष्ट और फायदेमंद होता है। तो चलिए आपको बताते हैं कि आखिर ये हल्दी का हेल्दी अचार बनता कैसे है। सामग्री कच्ची हल्दी कद्दूकस की हुई एक कप सरसों का तेल आधा कप नमक ढाई चम्मच लाल मिर्च आधा छोटी चम्मच मेथी 2 चम्मच दरदरी पिसी हुई सरसों का पाउडर दो चम्मच सोंठ पाउडर 1 चम्मच हींग 2-3 चुटकी नीबू का रस आधा कप ऐसे बनाएं अचार सबसे पहले सूखी हल्दी को छील लें और अच्छी तरह धोकर सुखा लें। धूप में रखने के साथ ही कपड़े से इसका पानी पोंछ लें और फिर इसे कद्दूकस कर लें। अब कड़ाही में सरसों तेल डालकर गरम होने के लिए रख दें। फिर आंच से उतारकर थोड़ा ठंडा कर लें और इसमें हींग, मेथी के साथ ही सारे मसाले और कद्दूकस की हुई कच्ची हल्दी डालकर अच्छी तरह मिलाएं। इसे एक बर्तन में निकालकर इसमें नींबू का रस मिलाएं और ढंककर 4-5 घंटे के लिए रख दें। फिर इसे कांच के सूख कंटेनर में रखकर 2

    बीन्स वैक्स से घर पर कुछ इस तरह करें वैक्सिंग

    त्वचा के अनचाहे बालों को हटाने के लिए यूं तो कई तरह की तकनीक अपनाई जाती है, लेकिन वैक्सिंग को इसमें अच्छा माना जाता है। अधिकतर लड़कियां पार्लर में जाकर वैक्स करवाना पसंद करती हैं। ऐसा करने से आपको भले ही काफी अच्छे रिजल्ट मिलते हों, लेकिन इसमें आपके काफी पैसे खर्च हो जाते हैं। वहीं दूसरी ओर, कुछ लड़कियां पैसे बचाने के लिए घर पर वैक्सिंग करती हैं, लेकिन यह उनके लिए काफी झंझट भरा हो सकता है। कई बार सही तरह से वैक्स ना होने पर मनचाहा रिजल्ट भी नहीं मिलता। अब आप सोच रही होंगी कि ऐसा कौन सा रास्ता है, जिसमें आपके पैसे भी बच जाए और आपको ज्यादा झंझट भी ना हो तो आप बीन्स वैक्स का इस्तेमाल करें। घर पर बिना किसी परेशानी के इस्तेमाल की जाने वाली यह वैक्स काफी अच्छी है। तो चलिए जानते हैं इसके बारे में− क्या है बीन्स वैक्स बीन्स वैक्स वास्तव में वैक्स ही है, लेकिन यह आपको मार्केट में पैकेट में बीन्स के रूप में मिलेगी और इसलिए इसे बीन्स वैक्स कहा जाता है। इसके इस्तेमाल का सबसे अच्छा तरीका है कि आप इसे आसानी से अप्लाई कर सकती हैं। साथ ही यह बीन्स की तरह होती है तो इन्हें रखना भी काफी आसान होता है।

    क्या आप जानते हैं बाल क्यों झड़ते हैं, इन उपायों के जरिए रोकें

    बाल प्रत्येक व्यक्ति चाहे पुरुष हो या महिला सभी की सुंदरता को बढ़ाता है परन्तु आजकल बालों का झड़ना एक आम समस्या बन गई है। पुरुष हो या महिला यहां तक की बच्चों में भी यह समस्या तेजी से बढ़ रही है। जहां पुरुषों में गंजा होने की प्रवृत्ति बढ़ रही है वहीं महिलाओं में भी गंजापन एक बड़ी समस्या का रूप धारण करती जा रही है जिससे सभी परेशान रहते हैं और वे अपने बालों का झड़ना रोकने के लिए हमेंशा कुछ भी करने को तत्पर रहते हैं ताकि उनकी खूबसूरती बरकरार रहे। ये तो सभी जानते हैं कि किसी भी समस्या से निजात पाने के लिए सर्वप्रथम उसके कारणों का पता लगाना आवश्यक होता है। बालों के झड़ने के भी कई कारण हो सकते हैं जैसे कि बालों के देखभाल में कमी, सही मात्रा में पानी, व्यायाम, उचित पोषण का न मिलना आदि हो सकता है, इसीलिए बालों का झड़ना रोकने के लिए विभिन्न प्रकार के घरेलू नुस्खे, दवाइयों का उपयोग किया जा सकता है। शैम्पू– हमेंशा बालों को धोने के लिए अच्छे शैम्पू का प्रयोग करना चाहिए। ध्यान रखें कि शैम्पू में सल्फेट, पैराबेन और सिलिकन न हो । कंडीशनर– एक बेहतरीन कंडीशनर बालों को मजबूत और सुंदर बना देता है जिससे

    ठंड के मौसम में इन आसान तरीकों से बनाएं गाजर का हलवा

    गाजर के हलवे का नाम सुनते ही मुंह में पानी आ जाता है। खासतौर से, ठंड के मौसम में तो हर कोई गाजर का हलवा खाना पसंद करता है। लेकिन अधिकतर लोग सोचते हैं कि इसे बनाने में काफी झंझट है और इसलिए लोग अक्सर बाहर जाकर गाजर का हलवा लेकर आते हैं। अगर आप भी ऐसा ही सोचते हैं तो आप गलत है। गाजर का हलवा घर पर भी बेहद आसानी से बनाया जा सकता है। बस आपको इसे बनाने की विधि के बारे में पता होना चाहिए। तो चलिए जानते हैं गाजर का हलवा बनाने की विधि− सामग्री− गाजर 600 ग्राम दूध 600 एमएल एक कप चीनी तीन टेबलस्पून घी चार−पांच क्रश की हुई इलायची तीन टेबलस्पून पिस्ता बनाने की विधि− आज हम आपको गाजर के हलवे की इतनी आसान रेसिपी बता रहे हैं, जिसमें आपको गाजर को घंटों कद्दूकस करने की मेहनत नहीं करनी पड़ेगी। बस आप गाजर का ऊपरी व निचला हिस्सा हटाकर उसे छील लें। अगर गाजर के बीच का हिस्सा ज्यादा व्हाइट है, तो आप उसे चाकू की मदद से हटा सकती हैं। अब आप एक कूकर लेकर उसे गैस पर रखें। अब इसमें गाजर व एक कप दूध और एक चम्मच घी डालें। अब इसमें ढक्कन लगाकर एक सीटी लगाएं। एक सीटी के बाद आप इसे लो फ्लेम में पकाएं। फिर आप गैस

    पुराने स्वेटर का कुछ इस तरह करें दोबारा इस्तेमाल

    ठंड के मौसम में स्वेटर सबसे जरूरी चीजों में से एक है। लेकिन एक ही स्वेटर को हर ठंड के मौसम में इस्तेमाल करना संभव नहीं है। जब स्वेटर पुराना हो जाता है तो उसे दोबारा पहनने का मन नहीं करता। ऐसे में हम अपने स्वेटर को किसी दूसरे को दे देते हैं। लेकिन अगर आप इस स्वेटर का एक अलग व अनोखा इस्तेमाल करना चाहती हैं तो आज हम आपको पुराने स्वेटर को दोबारा इस्तेमाल करने के कुछ डिफरेंट आइडियाज बता रहे हैं− बनाएं स्विंग पर्स अगर आपका स्वेटर पुराना व बेकार हो गया है तो आप इसकी मदद से एक वूलन स्विंग पर्स बना सकती हैं। यह स्वेटर पर्स देखने में काफी अच्छा लगता है। फिंगरलेस ग्लव्स ठंड का मौसम है तो आपको अपने हाथों को भी ठंड से बचाना होगा। ऐसे में आप फिंगरलेस ग्लव्स बनाएं। यह फिंगरलेस ग्लव्स आपको ठंड से बचाने के साथ−साथ ट्रेंडी भी दिखाएगा। लॉन्ग बूट्स को बनाएं स्टाइलिश ठंड के मौसम में अक्सर हम सभी लॉन्ग बूट्स पहनते हैं, लेकिन अगर आप उसे और भी ज्यादा स्टाइलिश बनाना चाहती हैं तो पुराने स्वेटर की स्लीव्स को काटकर उसे अपने बूट्स से पहले पहनें। इसे आप फुल लेंथ सॉक्स बनाकर इस्तेमाल कर सकती हैं। पालतू

    स्किन समस्याओं को खत्म करने में सहायक होती है गाजर

    गाजर का इस्तेमाल यूं तो आपने सब्जी या सलाद के रूप में कई बार किया होगा। लेकिन क्या आप इस बात से वाकिफ हैं कि गाजर स्किन की सुंदरता को निखारने में भी बेहद उपयोगी है। इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्व कई तरह की स्किन की समस्याओं को दूर करने में काफी असरदार है। तो चलिए जानते हैं गाजर की मदद से कैसे रखें स्किन का ख्याल− स्किन की बनाए नमी जब ठंडी हवाएं चलती हैं तो स्किन की प्राकृतिक नमी कहीं खो जाती है, लेकिन स्किन की प्राकृतिक नमी को बनाए रखने में गाजर की मदद ली जा सकती है। इसके इस्तेमाल के लिए चार छोटे चम्मच कद्दूकस की हुई गाजर में दो छोटे चम्मच मलाई, दो छोटे चम्मच शहद और एक छोटा चम्मच जैतून का तेल इसे मिक्स कीजिए। अब मिक्सी की मदद से एक स्मूद पेस्ट तैयार करें। अब चेहरे को क्लींजर से साफ करें। इसके बाद तैयार पेस्ट को लगाएं और करीबन पन्द्रह मिनट के लिए छोड़ दें। अंत में गुनगुने पानी से चेहरा साफ करें। इससे स्किन मॉइश्चराइज होने के साथ−साथ खूबसूरत भी दिखने लगती है। दिखेंगी जवां−जवां अगर आप बढ़ती उम्र के प्रभाव को कम करना चाहती है तो इसके लिए भी गाजर बेहद उपयोगी है। इसके लिए दो चम्मच गाजर क

    आईब्रो को बनाना है घना तो करें इन तेलों का इस्तेमाल

    आईब्रो आपके चेहरे को एक आकार प्रदान करते हैं। अगर आपकी आईब्रो शेप में नहीं होती तो आपका चेहरा भी अजीब लगता है। ठीक इसी तरह, पतली आईब्रो भी आपके चेहरे को उतना खूबसूरत नहीं दिखातीं, जितना वास्तव में उसे दिखाना चाहिए। अगर आपकी आईब्रो काफी पतली हैं और आप उन्हें मोटा दिखाने के लिए आईब्रो पेंसिल का सहारा लेती हैं तो अब आपको ऐसा करने की आवश्यकता नहीं है। अगर आप चाहें तो कुछ तेलों की मदद से भी अपनी आईब्रो की ग्रोथ को बढ़ा सकती हैं। आइए जानते हैं इन्हीं तेलों के बारे में- जैतून का तेल जैतून के तेल के ब्यूटी बेनिफिट्स से तो हर कोई परिचित है। इसमें कई तरह के पोषक तत्व और विटामिन जैसे विटामिन ए और ई पाए जाते हैं। यह विटामिन आपकी हेयर ग्रोथ में मदद करते हैं। आप रोजाना इस तेल की मदद से अपनी आईब्रो हेयर की मसाज करें। कुछ ही दिनों में आपको अपनी आईब्रो में फर्क नजर आने लगेगा। बादाम का तेल जैतून के तेल की तरह ही बादाम के तेल में भी आपको विटामिन ई की प्रचुरता मिलती है, जिसके कारण यह आपकी आईब्रो के हेयर को घना बनाते हैं। इसके अतिरिक्त बादाम के तेल में एंटी-ऑक्सीडेंटस भी होते हैं, जो आपकी स्किन को कई रू

    ब्लैकहेड्स की परेशानी को करना है दूर तो अपनाएं ये आसान तरीके

    हर किसी का सपना होता है साफ-सुथरी बेदाग त्वचा का, लेकिन कभी पिंपल्स तो कभी ब्लैकहेड्स आपकी खूबसूरती चुरा लेता है। आजकल धूल-मिट्टी, प्रदूषण और गलत खानपान की वजह से भी ब्लैकहेड्स की समस्या होती है। यदि आप भी बार-बार होने वाले ब्लैकहेड्स से परेशान हैं और क्लिनअप कराने के कुछ ही दिनों बाद ब्लैकहेड्स फिर से हो जाते हैं, तो आपके लिए ये घरेलू उपाय बहुत उपयोगी साबित हो सकते हैं। अंडा ब्लैकहेड्स की समस्या दूर करने में अंडे का सफेद भाग बहुत मददगार होता है। इसके लिए एक अंडे के सफेद भाग में एक चम्मच शहद मिलाकर चेहरे पर मास्क की तरह लगाएं। सूख जाने पर गुनगुने पानी से धो लें। हफ्ते में एक या दो बार ऐसा करने पर ही फर्क नज़र आने लगेगा। इतना ही नहीं यह स्किन के एक्स्ट्रा ऑयल को भी साफ कर देता है। ब्कहेड्स निकालने के साथ ही यह स्किन पोर्स को टाइट भी करता है। इस फेस मास्क से चेहरे पर निखार भी आता है। दालचीनी एक चम्मच दालचीनी के पाउडर में नींबू के रस की कुछ बूंदे डालकर पेस्ट बनाएं और ब्लैकहेड्स वाले हिस्स पर लगाएं। 20 मिनट बाद पानी से धो लें। यह त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद होता है। नींबू में मौजूद ए

    इन आसान घरेलू उपायों से मिलेगा मियादी बुखार में आराम

    टायफायड जिसे मियादी बुखार भी कहा जाता है, आमतौर पर दूषित पानी या भोजन से फैलता है। मियादी बुखार में व्यक्ति को 104 डिग्री तक भी बुखार हो सकता है। गंभीर स्थित हिोने पर अस्पताल में भर्ती भी करवाना पड़ता है। यूं तो टायफाइड होने पर व्यक्ति को डॉक्टरी मदद की जरूरत होती है, लेकिन फिर भी आप कुछ आसान घरेलू उपायों के जरिए स्थिति में काफी हद तक राहत पा सकते हैं। तो चलिए जानते हैं ऐसे ही कुछ आसान उपायों के बारे में− लिक्विड पर करें फोकस चूंकि टायफाइड में व्यक्ति को तेज बुखार होता है और शरीर का तापमान बढ़ने से व्यक्ति डिहाइडेट हो सकता है। ऐसे में व्यक्ति को अपने लिक्विड की मात्रा बढ़ा देनी चाहिए। आप पानी के अलावा नारियल पानी, फलों के रस व सूप आदि का सेवन करें। इससे आपको कई तरह के पौष्टिक तत्व भी मिलेंगे। अक्सर टायफाइड होने पर व्यक्ति को दस्त हो जाते हैं। ऐसे में भी पानी की मात्रा बढ़ाने की आवश्यकता होती है। आप चाहें तो मार्केट में मिलने वाले ओआरएस पैकेट का घोल बनाकर भी पी सकते हैं। लहसुन आपको शायद पता ना हो लेकिन लहसुन टायफायड बुखार में बेहद लाभदायी होता है। सबसे पहले तो लहसुन की तासीर गर्म

    सीने में दर्द के हो सकते हैं कई कारण, इन पर ध्यान देना जरूरी

    ठंड के मौसम में अक्सर लोगों को सीने में दर्द की शिकायत होती है। यकीनन सीने में दर्द को बिल्कुल भी नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए। आमतौर पर लोग इसे हार्ट अटैक से जोड़कर देखते हैं, लेकिन सीने में दर्द के अन्य भी कई कारण होते हैं। सीने में दर्द की समस्या सिर्फ आपके हृदय से ही नहीं जुड़ी होती, बल्कि यह फेफड़े, मसल्स, रिब्स या नर्व्स से भी जुड़ी हो सकती है। इनमें से कुछ स्थितियां बेहद खतरनाक और आपके जीवन के लिए खतरा भी हो सकती हैं। अगर आप गर्दन से लेकर ऊपरी पेट तक कहीं भी सीने में दर्द महसूस करते हैं तो इसके कई कारण हो सकते हैं− मांसपेशियों में तनाव अगर आपको पसलियों के आसपास की मांसपेशियों में किसी कारणवश सूजन होती है, तो यह सीने में दर्द की वजह बन सकता है। अगर यह दर्द धीरे−धीरे बदतर होता जाता है तो यह मांसपेशियों में खिंचाव का लक्षण हो सकता है। पसलियों में चोट अगर आपको पसलियों में चोट लगती है, जैसे उसका टूटना या फ्रैक्चर होना। तो इससे छाती में दर्द हो सकता है। अगर किसी कारणवश पसली टूट जाती है तो इससे आपको अत्यधिक दर्द का अहसास होता है। पेप्टिक अल्सर पेप्टिक अल्सर जो वास्तव में पेट

    कश्मीर में चिल्लई कलां की शुरुआत, पड़ रही है खून जमा देने वाली ठंड

    कहा जाता है कि धरती पर अगर कहीं स्वर्ग है, तो यहीं है, यहीं है, यही हैं। जी हाँ, धरती पर अगर कहीं स्वर्ग है तो वह है कश्मीर घाटी। आज हम आपको बताएंगे हाड़ कँपकँपा देने वाली ठंड में क्या है लोगों का हाल और बर्फबारी से लोग कितने हैं परेशान। साथ ही जानेंगे कश्मीर में शुरू हो चुके चिल्लई कलां के बारे में। कश्मीर में राजनीतिक और सामाजिक रूप से तो हालात पूरी तरह सामान्य हो चले हैं लेकिन मौसम जरा बेईमान बना हुआ है। खून जमा देने वाली ठंड के बीच वादी-ए-कश्मीर में चिल्लई कलां का आगाज हो चुका है। कश्मीर में 21 और 22 दिसम्बर की रात से भयानक सर्दी के मौसम की शुरूआत मानी जाती है। करीब 40 दिनों तक के मौसम को चिल्लई कलां कहा जाता है, इसमें अगले चालीस दिन तक बर्फबारी के साथ जमकर ठंड पड़ेगी। इस बार हुई बर्फबारी कई सालों के बाद सही समय पर हुई है। नतीजतन कुदरत का समय चक्र तो सुधरा गया लेकिन कश्मीरियों की परेशानियां बढ़ गईं क्योंकि पिछले कई सालों से बर्फबारी समय पर नहीं हो रही थी। चिल्लई कलां करीब 40 दिनों तक चलता है और उसके बाद चिल्ले खुर्द और फिर चिल्ले बच्चा का मौसम आ जाता है। चिल्लई कलां के दौरान मौसम ख

    नए साल पर इन जगहों पर घूमें, बजट भी नहीं बिगड़ेगा

    नए साल का स्वागत करने के लिए अधिकतर लोग घूमने का प्लान बनाते हैं। लेकिन साथ ही उनके मन में यह भी होता है कि नए साल का स्वागत करने के चक्कर में कहीं उनका बजट ना बिगड़ जाए। कई बार तो लोग इस वजह से अपने घूमने का प्लान भी कैंसिल कर देते हैं। अगर आपको भी लगता है कि नए साल में घूमने पर आपका बजट बिगड़ जाएगा तो अब आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। आज हम आपको ऐसी कुछ जगहों के बारे में बता रहे हैं, जहां आप बजट में रहते हुए नए साल का स्वागत कर सकते हैं− गोवा नए साल पर घूमने की बात हो और गोवा का नाम ना आए, ऐसा तो हो ही नहीं सकता। वैसे तो आप गोवा कभी भी घूमने जा सकते हैं, लेकिन नए साल का जश्न गोवा में एक बेहद ही अलग तरह से मनाया जाता है। अगर आप यहां गए हैं तो बोहेमियन बीच पार्टी से लेकर नाइट क्लब इवेंट्स में जाएं। दिसंबर के आखिरी दिनों में गोवा में पार्टी का दौर चालू रहता है, ऐसे में आप यहां जमकर मस्ती कर सकते हैं। अगर आप गोवा में न्यू ईयर सेलिब्रेशन करने का मन बना रहे हैं, तो टीटो क्लब, मैम्बो कैफे व बोट क्रूज पार्टी को एन्जॉय करें। अगर आप पहले से ही पैकेज बुक करवाते हैं तो आपको हर व्यक्ति का ल

    कूकर में केक बनाना है बेहद आसान, जानिए बनाने का तरीका

    कोई भी खास मौका हो तो लोग मुंह मीठा करने के लिए केक खाते हैं। वैसे तो तरह−तरह के केक मार्केट में आसानी से मिल जाते हैं, लेकिन घर में बने हुए केक की बात ही अलग होती है। यूं तो केक बनाने के लिए ओवन की जरूरत होती है। लेकिन अगर आपके पास ओवन नहीं है तो भी आपको निराश होने की जरूरत नहीं है। अगर आप चाहें तो कूकर में भी बेहतरीन तरह से केक तैयार कर सकती हैं। तो चलिए आज हम आपको कूकर में केक बनाने की रेसिपी के बारे में बता रहे हैं। इस केक को बनाने के लिए आपको अंडे का भी इस्तेमाल करने की जरूरत नहीं है। इसलिए अगर आप अंडे नहीं खाते हैं तो भी इस केक को बनाकर फैमिली के साथ एन्जॉय कर सकते हैं− सामग्री− एक कप मैदा दो टेबलस्पून कार्नफलोर एक टीस्पून बेकिंग पाउडर दो टेबलस्पून कोको पाउडर एक चौथाई कप बटर आधा कप पाउडर चीनी आधा कप कंडेस्ड मिल्क काजू, बादाम, अखरोट कटे हुए थोड़े किशमिश खजूर डेढ़ कप नमक विधि− कूकर में चॉकलेट नट्स केक बनाने के लिए सबसे पहले कूकर के अंदर डेढ़ कप नमक डालें। अब आप एक रिंग कटर या कटोरी या बर्तन वाला स्टैंड रखें ताकि इसकी दो−तीन इंच हाइट बढ़ जाए। अब इसके उपर ढक्कन लगाएं, ल

    पुराने जंग लगे सामान को चमकाएं कुछ इस तरह

    जब मेटल लंबे समय तक पानी के संपर्क में रहता है, तो इससे उस पर जंग लग जाता है। यह जंग किसी टूल्स, आउटफोर फर्नीचर, कार या किसी भी मेटल पर लग सकता है। ऐसे में अधिकतर लोग उस सामान को पुराना व बेकार समझकर उसे बाहर कर देते हैं। अगर आप भी ऐसा ही कुछ करते हैं तो अब आपको यह करने की जरूरत नहीं है। आज हम आपको पुराने जंग लगे सामान को आसानी से चमकाने के कुछ आसान तरीकों के बारे में बता रहे हैं− नींबू का रस नींबू में मौजूद एसिड एक नेचुरल क्लीनर के रूप में जाना जाता है। यह जंग को साफ करने में भी काफी काम आता है। धातु से जंग हटाने के लिए आपको नींबू के साथ−साथ नमक की भी जरूरत पड़ेगी। इसके लिए आप जंग लगे सामान के ऊपर नमक लगाएं। जब आप एक बार नमक लगा लें तो उसके ऊपर आप नींबू का रस लगाएं। इसके अलावा अगर आप चाहें तो नींबू के रस में नमक लगाकर उसे धातु के उपर लगाकर दो घंटे के लिए छोड़ दें। अब इसे हल्का रगड़ते हुए क्लीन करें। बेकिंग सोडा बेकिंग सोडा भी जंग को हटाने में काम आता है। इसके लिए एक बाउल में बेकिंग सोडा डालकर उसमें थोड़ा पानी मिक्स करें और पेस्ट बनाएं। अब इसे जंग लगे एरिया पर लगाएं और कुछ घंटों क

    पार्लर जाने की जरूरत नहीं, घरेलू चीज़ों से घर पर करें फेशियल

    फेशियल से चेहरे पर निखार तो आता ही है साथ ही दाग-धब्बे कम हो जाते हैं और त्वचा में कसाव भी आता है, लेकिन आप यदि हर महीने फेशियल के लिए पार्लर नहीं जाना चाहती तो आसानी से घर में मौजूद चीज़ों से ही पार्लर जैसा फैशियल कर सकती है, वह भी बिल्कुल आसान तरीके से। चलिए आपको बताते हैं कैसे घरेलू चीज़ों से ही आप फेशियल करके न सिर्फ पार्लर के पैसे बचा सकती हैं, बल्कि बिना किसी साइड इफेक्ट के दमकती त्वचा भी पा सकती हैं। फेशियल के लिए आपको प्रोसेस तो पार्लर वाला ही फॉलो करना होगा, बस सामग्री सब होममेड होगी। पहला स्टेप सबसे पहले बालों को ऊपर बांध लें या क्लिप लगा लें ताकि फेशियल के दौरान यह मुंह पर आकर डिस्टर्ब न करें। दूसरा स्टेप फेशियल का दूसरा स्टेप होता है क्लिंजिंग यानी चेहरे से धूल-मिट्टी को अच्छी तरह साफ करना। इस स्टेप में ज़रूरी है कि चेहरे पर किसा तरह का मेकअप न रहे, वरना फेशियल का सही इफेक्ट नहीं आएगा। क्लिंजिंग के लिए आप बादाम, जोजोबा या ऑलिव आयल को अपने चेहरे पर अच्छी तरह लगाएं और फिर इसे गुनगुने पानी में कपड़ा गीला करके पोंछ लें। इससे मेकअप और चेहरे पर चिपकी गंदगी अच्छी तरह निकल

    पार्टी में इंडो−वेस्टर्न पहनने का है मन तो अपनाएं ये ड्रेस स्टाइल

    आमतौर पर माना जाता है कि लड़कों के लिए कपड़ों के ऑप्शंस काफी सीमित होते हैं और इसलिए जब भी पुरुषों को कहीं बाहर जाना होता है तो वह अक्सर कोट−पैंट ही पहनना पसंद करते हैं। यकीनन यह पुरुषों के लिए एक सेफ ऑप्शन है, लेकिन इसका अर्थ यह नहीं है कि आप सिर्फ इसी लुक में ही बंधकर रह जाएं। अगर आप चाहें तो इंडो−वेस्टर्न आउटफिट पहनकर भी पार्टी में रॉक कर सकते हैं। तो चलिए आज हम आपको पुरूषों के लिए पार्टी में पहने जाने वाले कुछ इंडो−वेस्टर्न आउटफिट के बारे में बता रहे हैं। यकीन मानिए, इन्हें जानने के बाद आप भी अपने लुक में काफी एक्सपेरिमेंट कर पाएंगे− मार्केट में मिलने वाले इंडो−वेस्टर्न जोधपुरी आउटफिट वास्तव में टेडिशनल मेन्स जोधपुरी सूट का ही एक मॉडर्न स्टाइल है। इसे आप किसी भी पार्टी या फंक्शन में बेहद आराम से पहन सकते हैं। इसके साथ जोधुपरी शूज़ पहनना एक अच्छा विचार है। इंडो−वेस्टर्न वेस्ट कोट स्टाइल यह भी एक बेहतरीन इंडो−वेस्टर्न लुक है, जो हर पुरुष पर अच्छा लगता है। इस लुक में आप कुर्ते के साथ चूड़ीदार या धोती पहनकर उसके साथ वेस्टकोट पहन सकते हैं। कोशिश करें कि वेस्टकोट का कलर आपके आउटफ

    प्रेग्नेंसी के दौरान ये हेल्दी स्नैक्स आपकी फूड क्रेविंग को कर सकते हैं कम

    Healthy snacks during Pregnancy: प्रेग्नेंट महिलाओं में अक्सर इस चीज को देखा गया है कि उन्हें खाने की क्रेविंग होती है। खाने में उन्हें कभी भी कुछ भी खाने की इच्छा हो जाती है। कई बार तो रात में नींद टूटने पर चॉकलेट और अचार भी खाने का मन करने लगता है। यह भी एक वजह है कि महिलाएं प्रेग्नेंसी के दौरान वेट गेन करने लगती हैं। प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाएं अधिक कैलोरी और फैट वाले फूड्स खाना पसंद करती हैं। लेकिन हर फूड खाना नुकसानदायक साबित हो सकता है, मां और बच्चे दोनों के लिए। ऐसे में कुछ हेल्दी स्नैक्स हैं जो आपकी फूड क्रेविंग को कम कर सकते हैं और आपको पोषक भी प्रदान कर सकते हैं। पॉपकॉर्न: पॉपकॉर्न में फाइबर उच्च मात्रा में होता है और एक बहुत हल्का स्नैक्स भी होता है। इसलिए आप इसे खाने के बाद खा सकते हैं। फाइबर होने के कारण यह आपके खाने की इच्छा को कम करने में मदद करता है। लेकिन ध्यान रहे कि एक सीमित मात्रा में ही इसको अपनी डाइट में शामिल करें। चॉकलेट: प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए चॉकलेट एक बेहतर विकल्प होता है। यह फूड क्रेविंग को कम करने का उपाय होता है। प्रेग्नेंसी के दौरान कम शुगर वा

    आम खाइए ही नहीं मैंगो फेशियल भी ट्राई कीजिए, जबरदस्त ग्लो करेगी स्किन

    अधिक व्यस्त होने के कारण अपनी त्वचा का ख्याल रखना बहुत ही मुश्किल हो जाता है। हम सभी को एक परफेक्ट स्किन चाहिए होती है। हम सब किसी ऐसी क्रीम या फेस पैक को ढूंढते हैं जो ना केवल हमारे स्किन को धूप से बचाकर रखें बल्कि उसे सारा दिन सॉफ्ट भी रखें। लेकिन फेस क्रीम के इस्तेमाल से कभी-कभी साइड इफेक्ट्स भी हो जाते हैं जिससे स्किन को और भी खतरा हो जाता है। इसलिए आज एक ऐसे फल के बारे में बताएंगें जो आपकी स्किन के लिए किसी भी क्रीम या फेस पैक से ज्यादा फायदेमंद होगा, और उस फल का नाम है – आम। आम का इस्तेमाल फेस पैक बनाने में भी मदद करता है जो स्किन के लिए बेहद फायदेमंद होता है। 1. दलिया और आम – यह मिक्सचर आपके स्किन की डेड स्किन को हटाकर आपके चहरे को सॉफ्ट रखेगा। इसके लिए आपको आम को दूध के साथ मिला लेना है। अब उसमें दलिया और बादाम मिलाएं। इस मिक्सचर को चहरे पर 15 मिनट तक लगा कर रखें और उसके बाद चेहरा धो लेना है। 2. आम और शहद – इस मिक्सचर से आपका चहरा ग्लो करने लगता है। इसके लिए आपको आम को शहद और नींबू पानी में मिलाना है। अब इस मिक्सचर को 20 मिनट तक चहरे पर लगाएं रखें और फिर पानी से धो लें

    मेनिक्योर के ये प्रकार जरूर करें ट्राय, हाथ दिखेंगे खूबसूरत

    हाथों को खूबसूरत और आकर्षक बनाने के लिए आप भी मेनिक्योर करवाती होंगी और इसके लिए पार्लर में ढेर सारा पैसा भी देती होंगी। हाथों की सही देखभाल के लिए समय-समय पर मेनिक्योर करवाते रहना जरूरी है। मेनीक्योर में सबसे पहले हाथों और नाखूनों पर अच्छी तरह स्क्रब से मसाज की जाती है, फिर नाखूनों को फाइलर से ओवल शेप दी जाती है। मेनीक्योर कर नाखूनों के आस-पास की रूखी त्वचा के भी हटाया जाता है। मेनिक्योर करवाने से हाथों की उचित देखभाल होती है व त्वचा में कसाव आता है और जिससे वे सुंदर दिखते हैं। मेनीक्योर करवाने के लिए आप पार्लर ही जाएं, ऐसा जरूरी नहीं। आप चाहें तो हाथों और नाखूनों को खूबसूरत बनाने के लिए घर पर ही मेनिक्योर कर सकते हैं। 1. रेगुलर मेनीक्योर रेगुलर मेनीक्योर करने के लिए पहले अपने हाथों को गुनगुने पानी में डुबाना और फिर हाथों में मौजूद क्युटिकल्स निकालने के बाद नाखूनों की ट्रिमिंग और फाइलिंग की जाती है। इसके बाद हाथों और नाखूनों पर लोशन मसाज किया जाता है और नेल पेन्ट प्रयोग किया जाता है। रेगुलर मेनीक्योर, मेनीक्योर का एक आम प्रकार है। 2. फ्रेंच मैनीक्योर फ्रेंच मैनीक्योर करते समय

    HPBOSE D.El.ED. के 1608 फार्म बोर्ड ने इस वजह से किए रद्द

    डीएलएड कॉमन एंट्रेंस टेस्ट के लिए किए गए लगभग 21 हजार आवेदनों में से 1608 आवेदन रद्द हो गए हैं। दो वर्षीय डिप्लोमा इन एलीमेंट्री एजुकेशन (डीएलएड) का कॉमन एंट्रेंस टेस्ट स्कूल शिक्षा बोर्ड आगामी 04 अगस्त को कराएगा। बोर्ड ने डीएलएड के लिए आवेदन 25 जून से 15 जुलाई तक लिए थे। बोर्ड द्वारा तय किए गए आवेदन की निर्धारित तारीखों में 21 हजार 393 आवेदकों ने ऑनलाइन आवेदन किए थे। जिसमें से 1608 आवेदकों के फॉर्म अधूरे पाए गए हैं, जिसे बोर्ड ने रद्द कर दिया है। जितने भी फॉर्म रद्द किए गए हैं उनकी जानकारी बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध है। इसके अलावा जिन आवेदकों ने बोर्ड द्वारा निर्धारित समय के दौरान फीस जमा करवाए हैं उनका नाम रद्द सूची में दर्ज है। बोर्ड ने ऐसे आवेदकों को 2 दिन का अतिरिक्त समय दिया है। ऐसे आवेदक 19 जुलाई तक फीस से संबंधित दस्तावेज बोर्ड के ऑफिस में जमा कर रोल नंबर प्राप्त कर सकते हैं। स्कूल शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष डॉ. सुरेश कुमार सोनी का कहना है कि डीएलएड का कॉमन एंट्रेंस आने वाले 04 अगस्त को आयोजित होगा। हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड ने 17 जुलाई को अपने आधिकारिक वेबस

    आपका अपमान करने वाले लोगों को चाणक्य की इस नीति से दें जवाब

    Acharya chanakya: अपमानित होना किसे अच्छा लगता है लेकिन जीवन में कई बार ऐसी स्थिति उत्पन्न हो जाती है जब हमें दूसरों द्वारा अपमान सहना पड़ता है। कई बार खुद के द्वारा की गई गलतियों पर तो कभी बेवजह अपमानित होना पड़ता है। लेकिन खुद की गलतियों के लिए किये गये अपमान को तो व्यक्ति सह भी जाता है पर यदि कोई बिना किसी गलती के कारण आपको सबके सामने अपमानित करे तो सहना कुछ मुश्किल हो जाता है। ऐसे में बहुत से लोग तुरंत उस व्यक्ति की भाषा में उसे जवाब देने लगते हैं तो कुछ लोग चुप रहकर सब कुछ बर्दाश्त कर जाते हैं। और बहुत से लोग ऐसे होते हैं जिन्हें समझ नहीं आता कि इस परिस्थिति में क्या किया जाए। तो क्या है अपमान के जवाब का सही तरीका जानिए चाणक्य नीति… – चाणक्य नीति के अनुसार जब कोई आपका अपमान करे तो उसे उसकी भाषा में जवाब न दें क्योंकि उसका काम है आपको उकसाना। इसलिए बेहतर होगा कि आप ऐसी जगह पर मौन रहें और उसकी तरफ देखकर हल्का सा मुस्कुराएं और उससे कुछ ना कहें। क्योंकि ऐसा करने से उसे और भी ज्यादा गुस्सा आएगा और वह खुद को ही अपमानित महसूस करने लगेगा। – बहुत से लोग ऐसे होते हैं जिन्हें दूसरों को

    सावन सोमवार व्रत 2019: जानें सावन के सोमवार कब-कब पड़ रहे हैं और क्या है इस व्रत की पूजा विधि

    Sawan somvar vrat puja vidhi in hindi: हिन्दू धर्म में सावन के सोमवार का काफी महत्व होता है। इस साल यानि 2019 में सावन का महीना 17 जुलाई से शुरू होकर 15 अगस्त तक रहेगा। सावन के महीने में पड़ने वाले सोमवार का खास महत्व होता है। माना जाता है कि सावन सोमवार व्रत करने से भगवान शिव अपने भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूरी कर देते हैं। इस बार सावन के पवित्र महीने में कुल 4 सोमवार पड़ेंगे। जानिए किस दिन कौन सा सोमवार पड़ने वाला है और हर सोमवार का क्या महत्व होता है… सावन सोमवार व्रत तिथि: इस सावन का पहला सोमवार 22 जुलाई को है। यह पहला सोमवार सभी भक्तों के लिए विशेष महत्व रखता है। ऐसा मााना जाता है कि इस दिन शिव की पूजा से सभी प्रकार की बाधाओं से मुक्ति मिल जाती है। – सावन का दूसरा सोमवार 29 जुलाई को है। इस दिन शिव की पूजा-अर्चना से भक्तों को अच्छा स्वास्थ्य प्राप्त होता है। – तीसरा सोमवार 5 अगस्त को है। भक्तजन इस दिन शिव के मंत्रों का जाप करके मंत्र सिद्धि को प्राप्त करते हैं। – सावन का चौथा और आखिरी सोमवार 12 अगस्त को पड़ रहा है। इस दिन भोलेनाथ की पूजा से शत्रुओं पर विजय और कार्यक्षेत्र में

    चलिए जानते हैं कैसे करें बेकार बल्ब का इस्तेमाल

    घरों में बल्ब का फ्यूज हो जाना एक बेहद सामान्य घटना है। लोग मानते हैं कि बल्ब के खराब हो जाने पर उसका कोई इस्तेमाल नहीं रह जाता। लेकिन वास्तव में ऐसा नहीं है। यह आप पर निर्भर करता है कि आप किसी चीज का कितना स्मार्टली इस्तेमाल कर सकते हैं। एक छोटी से छोटी चीज भी कई रूपों में काम आ सकती है, अगर आपको उसे सही तरह से इस्तेमाल करने का तरीका पता हो तो। ऐसा ही कुछ पुराने बल्ब के साथ भी होता है। बल्ब के फ्यूज हो जाने पर भले ही वह घर में रोशनी न दे पाए लेकिन फिर भी वह अन्य कई जगहों पर बेहद आसानी से काम आ सकता है। बनाएं ऑयल लैंप कुछ लोग सोचते हैं कि बल्ब खराब हो गया है तो अब वह दोबारा आपका घर रोशन नहीं कर सकता, लेकिन ऐसा नहीं है। अगर आप चाहें तो इसकी मदद से ऑयल लैंप तैयार कर सकते हैं। ऑयल लैंप तैयार करने के लिए पहले आप बल्ब को अंदर से खाली करें। इसके बाद आप एक लकड़ी का ब्लॉक लेकर उसके बीच के हिस्से को थोड़ा गहरा करें। इस ब्लॉक से आपको ऑयल लैंप रखने के लिए एक बेस मिलेगा। इसके बाद एक कॉटन का धागा व ऑयल लेकर उसे बल्ब में डालें। अब आप उसे ऊपर से कवर करें। अंत में आप इस लैंप को लकड़ी के ब्लॉक के ऊपर

    बिल्कुल बाजार जैसी बनाएं कुल्फी, बस इस आसान तरीके से

    गर्मी के मौसम में अधिकतर लोगों को कुल्फी खाना पसंद होता है। यह मुंह में जाते ही एकदम से घुल जाती है। हालांकि बहुत सी लोगों की यह शिकायत होती है कि उन्हें कुल्फी बनाना ही नहीं आता या फिर उनकी कुल्फी बाजार जैसी नहीं बनती, जिसके कारण उन्हें बाजार से ही कुल्फी खरीदकर खाते हैं। अगर आपको भी ऐसी ही परेशानी होती है तो आज हम आपको कुल्फी का बेहतरीन बेस तैयार करने के सीक्रेट के बारे में बताएंगे, जिसके बाद आप कई फलेवर की कुल्फी बेहद आसानी से बना सकते हैं। तो चलिए जानते हैं अलग−अलग फलेवर की कुल्फी बनाने का तरीका− सामग्री− दूध 2.5 लीटर मिल्क पाउडर 5 टेबलस्पून चीनी 200 ग्राम एक आम आम कुछ धागे केसर और बारीक कटा पिस्ता एक पान और खाने वाला ग्रीन कलर विधि− बाजार जैसी टेस्टी कुल्फी बनाने के लिए आपको सबसे पहले बेस तैयार करना होगा। इसके लिए आप एक लोहे की कड़ाही में दूध डालकर गैस ऑन करें और उबलने दें। वैसे दूध को उबालने से पहले आप थोड़ा दूध अलग से रख दें। अब आप इस अलग रखे दूध में थोड़ा मिल्क पाउडर डालकर अच्छी तरह मिक्स करें और फिर इस मिल्क पाउडर वाले दूध को कड़ाही में डाल दें और दूध को चलाएं। अब आप

    टेंड में है नियॉन ग्रीन कलर, आप भी जरूर करें कैरी

    इन दिनों नियॉन ग्रीन कलर काफी टेंड में हैं और अक्सर बॉलीवुड सेलेब्स इस कलर को कैरी किए हुए नजर आ रहे हैं। इस सीजन का यह हॉट कलर पूरी डेस में स्टाइल का एक तड़का लगा रहा है। शायद यही कारण है कि बॉलीवुड सेलेग्ब्स के वार्डरोब का यह फेवरिट कलर बन चुका है। तो चलिए आज हम आपको कुछ बॉलीवुड सेलेब्स के नियॉन ग्रीन कलर स्टाइलिंग अपीयरेंस दिखा रहे हैं− आलिया भट्ट् राजी गर्ल आलिया भट्ट ने बेहद कम समय में खुद को एक सक्सेसफुल एक्टेस के रूप में स्थापित किया है। आलिया की एक्टिंग के साथ−साथ उनकी स्टाइलिंग का भी कोई जवाब नहीं है। हाल ही में आलिया एक नियॉन ग्रीन कलर की ऑफ शोल्डर डेस में नजर आई, जो उन पर खूब जंच रही थी। तमन्ना भाटिया तमन्ना भाटिया को तो इस बार ग्रीन कलर काफी भा रहा है और उन्होंने अपने वार्डरोब में ग्रीन कलर के कई शेड्स को जगह दी है। इस लुक में तमन्ना ने नियॉन ग्रीन कलर का लेसी स्पेगेटी टॉप, नियॉन ग्रीन का शॉर्ट जैकेट को डेनिम की शॉर्ट स्कर्ट के साथ टीमअप किया है। इसके साथ उन्होंने मल्टीकलर समर बूट्स पहने हैं। तमन्ना का यह लुक समर्स में यंग गर्ल्स के लिए काफी अच्छा है। दीपिका पादुकोण

    सिर्फ स्किन ही नहीं, लिप्स भी मांगती हैं सन प्रोटेक्शन

    अब जब पारा चरम पर है तो लोग बाहर निकलने से पहले सनस्क्रीन आदि जरूर लगाते हैं ताकि सूरज की हानिकारक किरणों का असर उनकी स्किन पर न हो। वैसे तो आप भी स्वयं को धूप से बचाने के लिए सनस्क्रीन, गॉगल्स, स्कार्फ या छाता आदि का इस्तेमाल करते होंगे। लेकिन क्या आपने लिप्स के प्रोटेक्शन के बारे में कभी सोचा है। नहीं न। शायद आपको पता न हो लेकिन होंठों में भी टैनिंग और सनबर्न जैसी समस्याएं होती हैं और अगर गर्मी के मौसम में बाहर निकलने से पहले होंठों पर पर्याप्त ध्यान न दिया जाए तो इससे लिप्स को काफी नुकसान उठाना पड़ता है। तो चलिए जानते हैं कि गर्मी के मौसम में होंठों की सूरज से कैसे करें सुरक्षा− ग्लॉस से दूरी गर्मी के मौसम में अक्सर लड़कियां बाहर निकलने से पहले होंठों पर ग्लॉस लगाना पसंद करती हैं। इससे आपके होंठ देखने में भले ही अच्छे लगें लेकिन यह शाइनी ग्लॉस सनडैमेज को काफी हद तक बढ़ाते हैं। इतना ही नहीं, सूरज की हानिकारक किरणों के सीधे संपर्क में आने से लिप्स कैंसर होने की संभावना भी बढ़ जाती है। बेहतर होगा कि आप कम से कम 30 एसपीएफ युक्त लिप बाम का इस्तेमाल करें। साथ ही इस लिपबाम को अपने बैग मे

    गर्मी के मौसम में खाएं चुटकी भर काला नमक, मिलेंगे यह बेजोड़ फायदे

    गर्मी का मौसम हो तो व्यक्ति को अपनी डाइट पर खासा ध्यान देना पड़ता है। इस मौसम में खानपान में बरती गई लापरवाही उसके स्वास्थ्य पर गहरा प्रभाव डालती है। खासतौर से, तपिश भरा यह मौसम पाचनतंत्र को काफी कमजोर बना देता है, जिससे व्यक्ति को पेट संबंधी समस्याएं परेशान करती हैं। लेकिन अगर आप इन सभी समस्याओं से दूर रहना चाहते हैं तो काले नमक को डाइट का हिस्सा बनाएं। यह न सिर्फ पाचनतंत्र को बेहतर बनाएगा, बल्कि आपको गर्मी में होने वाली अन्य कई परेशानियों से भी निजात दिलाने में मदद करेगा। तो चलिए जानते हैं इन्हीं लाभों के बारे में− पाचन संबंधी समस्याओं से राहत गर्मी में लोगों को कब्ज, एसिडिटी, पेट या सीने में जलन या पेट फूलना जैसी परेशानियों का सामना अधिक करना पड़ता है। ऐसे में आप काले नमक को अपने खाद्य व पेय पदार्थों में डालकर सेवन करें। इससे आपको पाचन संबंधी विकारों से आराम मिलेगा और भोजन का डाइजेशन भी बेहतर तरह से होगा। गर्मी में लाभदायक गर्मी के मौसम में काले नमक का उपयोग विशेषतौर पर करने का एक महत्वपूर्ण कारण यह है कि यह एक ठंडा नमक है जो शरीर के तापमान को बनाए रखने में मदद करता है। इस त

    छत्तीसगढ़ी संस्कृति का जीवंत संग्रहालय है ‘पुरखौती मुक्तांगन’

    चिलचिलाती गर्मी में कहीं घूमने निकलना कतई आनंददायक नहीं होता है। परंतु, अपन तो ठहरे यात्रा प्रेमी। संयोग से जून के पहले सप्ताह में छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर पहुँच गए। जब पहुँच गए तो फिर अपन राम का मन कहाँ होटल के आरामदेह बिस्तर पर लगता। जिस कार्य से रायपुर पहुँचे थे, सबसे पहले सुबह उसे पूर्ण किया। फिर दोपहर भोजन के बाद नये रायपुर की ओर निकल पड़े। नया रायपुर मुख्य शहर से लगभग 25 किलोमीटर की दूरी पर बसाया गया है, जिसे अब अटल नगर के नाम से जाना जाता है। छत्तीसगढ़ की पूर्व सरकार ने भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी के देहावसान के बाद उनके प्रति कृतज्ञता एवं श्रद्धा व्यक्त करने के लिए नये रायपुर का नाम ‘अटल नगर’ कर दिया। उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ को अलग राज्य बनाये जाने की माँग लंबे समय से उठती रही, जो अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में वर्ष 2000 में 1 नवंबर को मान्य हुई और मध्य प्रदेश की गोद से निकल कर 26वें राज्य के रूप में छत्तीसगढ़ ने अपनी यात्रा प्रारंभ की। उस समय छत्तीसगढ़ के सबसे बड़े शहर रायपुर को राजधानी बनाया गया। अब प्रशासकीय मुख्यालय के लिए नियोजित ढंग से नय

    बोतल की कैप भी आ सकती है बेहद काम, जानिए कैसे

    हर व्यक्ति अपनी दिनचर्या में कई तरह से बोतल का इस्तेमाल करता है। खासतौर से, गर्मी के मौसम में तो कभी पानी तो अन्य पेय पदार्थ को रखने के लिए बोतल का इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन अक्सर देखने में आता है कि बोतल में मौजूद पेय पदार्थ के खत्म होने के बाद उसे फेंक दिया जाता है और बोतल की कैप की तरफ तो किसी का ध्यान भी नहीं जाता। पर क्या आप जानते हैं कि वास्तव में बोतल की कैप बेहद काम की होती है। आप इसकी मदद से बहुत कुछ बना सकते हैं। तो चलिए जानते हैं इसके बारे में− बनाएं विंड चाइम बोतल के पुराने ढक्कन घर सजाने में आपकी मदद कर सकते हैं। अगर आपके पास बहुत सारी बोतल की कैप इकट्ठा हो गई हैं तो आप उनकी मदद से एक बेहद सुंदर विंड चाइम तैयार कर सकते हैं और उसे अपने घर में लटका सकते हैं। आर्ट वर्क पुरानी कैप्स को आप अपनी क्रिएटिविटी की मदद से कोई भी एक नया रूप दे सकते हैं। आप चाहें तो इसकी मदद से एक बेहतरीन पेड़ बनाएं या एक घड़ी, यह पूरी तरह आपकी क्रिएटिविटी पर निर्भर करता है।सजाएं घर अगर आप घर सजाने के लिए पैसे खर्च नहीं करना चाहते तो पुरानी बोतल कैप्स से घर को एक नया आकार दें। आप इसकी मदद से

    टमाटर सिर्फ चेहरे का ही रंग नहीं निखारता, बालों को भी बनाता है हेल्दी

    चेहरे पर टमाटर लगाने से टैनिंग की समस्या दूर होने के साथ ही चेहरे की रंगत भी निखर जाती है, लेकिन क्या आप जानती है कि आपकी खूबसूरती निखारने वाला टमाटर आपके बालों को भी हेल्दी बनाता है। टमाटर बालों से जुड़ी कई तरह की समस्या से छुटकारा दिलात है। चलिए आपको बताते हैं हेल्दी हेयरके लिए कैसे किया जाना चाहिए टमाटर का इस्तेमाल। टमाटर में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो सिर की कोशिकाओं को रिपेयर करने में मदद करते हैं। साथ ही स्कैल्प से गंदगी हटाने में और जड़ों को भी मज़बूत बनाते हैं। खुजली होने पर यदि आपको बालों में खुजली होती है या डैंड्रफ की समस्या है तो केमिकल वाले हेयर प्रोडक्ट्स की बजाय टमाटर लगाएं। इसके लिए 3 टमाटर की प्यूरी में 2 चम्मच नींबू का रस मिलाकर ब्लेंड कर लें। इस पेस्ट को स्कैल्प पर लगाकर 30 मिनट तक रखें। फिर बालों को ठंडे पानी से धो लें। ध्यान रहें शैम्पू का इस्तेमाल न करें। घने बाल यदि आपके बाल पतले हैं तो 2 चम्मच कैस्टर ऑयल और 1 टमाटर की प्यूरी को मिलाकर पेस्ट बना लें। अब इस पेस्ट को गुनगुना करके स्कैल्प पर लगाएं। याद रहे पेस्ट को ज़्यादा गर्म न करें। पेस्ट को स्कैल्प पर ल

    बालों को मज़बूत बनाने वाले नारियल तेल से चेहरे की चमक बढ़ाने के लिए ऐसे करें इस्तेमाल

    क्या आप जानती हैं बालों को मज़बूत और शाइनी बनाने वाला नारियल तेल आपके चेहरे का चमक भी बढ़ा सकता है। नारियल तेल से न सिर्फ कई तरह की स्किन प्रॉब्लम्स से छुटकारा मिलता है, बल्कि सुंदर, साफ और चमकदार त्वचा का आपका सपना भी पूरा हो सकता है। इसके लिए जानिए नारियल तेल का कैसे इस्तेमाल करना है। ग्लोइंग स्किन नारियल तेल मिलाकर तैयार किए गए स्क्रब से चेहरे का निखार बढ़ता है। स्क्रब तैयार करने के लिए शहद, ओट्स और नारियल तेल को मिकिस कर लें। इस पेस्ट को चेहरे पर लगा कर गोलई में स्‍क्रब करें। यह पेस्ट हर स्किन टाइप पर सूट करता है। इससे मसाज करने से डेड स्‍किन हटती है और स्‍किन में चमक आती है। यदि आप मुहांसों से परेशान रहती हैं तो यह आपके लिए बेस्ट स्क्रब है। दाग-धब्बे दूर करे नारियल तेल चेहरे के दाग-धब्बे दूर करने में भी मदद करता है। इसके लिए नारियल तेल में लेवेंडर ऑइल और लोहबान तेल मिलाना होगा। इस मिश्रण को कांच की शीशी में भरकर रख दें और रोज़ रात को सोने से पहले ड्रॉपर से निकालकर इससे चेहरे का मसाज करें। नियमित रूप से इस्तेमाल करने पर दाग-धब्बे दूर हो जाएंगे। सॉफ्ट स्किन कच्‍ची शहद में न

    गर्मी से बेहाल हैं तो इन जगहों पर जाकर ले सकते हैं सर्दी का एहसास

    जहां देश के कई हिस्सों में जमकर बरसात हो रही है, वहीं दिल्ली में सूखे जैसी स्थिति बनी हुई है। दिल्ली में गर्मी का दूसरा ही रूप इस साल देखने को मिला है। घर के अंदर तो एसी-कूलर की वजह तो रह सकते हैं लेकिन घर के बाहर तो ऐसा लगता है मानो आग के समुद्र में आ गये हो। उत्तर भारत की गर्मी ने जहां लोगों को परेशान किया हैं वहीं इस गर्मी ने कई लोगों की जेबें भी गरम की। जी हां इस साल ठंडी जगह जानें वाले पर्यटकों की संख्या में चार गुना बढ़ोत्तरी हुई है। मई-जून की स्कूल की छुट्टियों के चलते और गर्मी से बचने के लिए भारी संख्या में पर्यटकों ने पहाड़ों की ओर रूख किया। गर्मी की तपन अभी कम नहीं हुई है। अगर आप भी अपने दोस्तों और परिवार के साथ किसी ऐसी जगह जाना चाहते हैं जो ठंडी, खूबसूरत, शांत और एडवेंचरस हो तो हम आपको कुछ नाम बताने जा रहे हैं जहां आप जुलाई से सितंबर में जा सकते हैं। चोपटा उत्तराखंड के रूद्रप्रयाग के पास एक चोपटा नाम की जगह है। इस जगह को उत्तराखंड का मिनी स्विट्ज़रलैंड भी कहा जाता हैं। चोपटा की पहाड़ी चोटियों पर भगवान शिव का तुंगनाथ प्राचीन मंदिर है, जो यहां की खूबसूरती

    पुलवामा के पीछे से ‘आतंकी हमला’ हटा कर देखें यहां की करिश्माई खूबसूरती

    जम्मू-कश्मीर के पुलवामा का नाम आपने अकसर मीडिया की सुर्खियों में सुना होगा। हाल ही में पुलवामा में एक बड़ा आतंकी हमला हुआ था जिसमें भारतीय सेना के 40 जवान शहीद हो गये थे। दुनिया भर में इस हमले की कड़ी निंदा हुई थी, तभी से कश्मीर घाटी के पुलवामा के नाम के पीछे ‘आतंकी हमला’ जोड़ दिया गया। लेकिन अगर पुलवामा नाम के पीछे से अगर आप ‘आतंकी हमला’ हटा देंगे तो पुलवामा वापस अपने अस्तित्व में आ जाएगा, क्योंकि पुलवामा घाटी के खूबसूरत जगहों में से एक है। पुलवामा में जहां एक ओर लोग शहरी जीवन जीते हैं तो दूसरे ओर प्रकृति की खूबसूरती का आनंद लेते हैं। ऊंचे पहाड़, हरे पेड़-पौधों से भरा जंगल, पहाड़ों तो चीरता झरने का पानी… हिमालय से निकली नदी में बहता शीतल जल, किसानों की लहराता फसलें, कश्मीरी खूबसूरत से भरा गांव… यहां बहुत कुछ है देखने के लिए। अवंतीश्वर मंदिर पुलवामा में एक प्राचीन मंदिर है, जिसे लोग तीर्थ स्थल मानते हैं। इस मंदिर का नाम अवंतीश्वर मंदिर है। यह मंदिर हिंदू धर्म के पूजनीय भगवान विष्णु को और देवों के देव महादेव को समर्पित है। देश-दुनिया के लोग इस मंदिर में दर्शन के लिए आते हैं, क्योंकि

    अंडे को बनाएं इस अंदाज में, हर कोई पूछेगा रेसिपी

    कहते हैं कि संडे हो या मंडे, रोज खाओ अंडे। वैसे तो अंडे को आप भी कई तरह से खाते होंगे। कभी एग सैंडविच तो कभी आमलेट तो कभी अंडे की भुर्जी, घरों में बनाई जाती है। लेकिन आज हम आपको अंडे की एक अलग ही रेसिपी के बारे में बता रहे हैं। आप चाहें तो अंडे के पकौड़े बनाकर भी खा सकते हैं। तो चलिए जानते हैं अंडा पकौड़ा बनाने की विधि− सामग्री− चार से पांच उबले अंडे एक कप बेसन तीन टेबलस्पून चावल का आटा नमक स्वादानुसार लाल मिर्च पाउडर आधा चम्मच अजवाइन बारीक कटी हरी मिर्च कटा हुआ हरा धनिया तेल विधि− अंडा पकौड़ा बनाने के लिए सबसे पहले अंडों को उबाल लें। इसके बाद इसे छीलकर बीच में से काट लें। इसके बाद बेसन का मिश्रण तैयार करें। इसके लिए एक बड़े बाउल में बेसन डालकर उसमें चावल का आटा, नमक, लाल मिर्च पाउडर, अजवाइन, हरी मिर्च और हरा धनिया डालें। अब इसमें थोड़ा−थोड़ा पानी डालकर बेसन का घोल तैयार करें। यह घोल वैसा ही होना चाहिए, जैसा घर में अलग−अलग पकौड़े बनाने के लिए किया जाता है। इस घोल को ज्यादा पतला न करें। अब एक कड़ाही में तेल डालकर उसे गर्म करने रख दें। साथ ही अंडों के ऊ

    झटपट तैयार करें टमाटर पनीर, हर किसी को आएगी पसंद

    पनीर एक ऐसा व्यजंन है, जो हर किसी को बहुत पसंद आता है। खासतौर से, शाकाहारी लोगों का तो यह फेवरिट होता है। वैसे तो आप भी पनीर को कई तरह से बनाकर खाते होंगे लेकिन आज हम आपको टमाटर पनीर की रेसिपी के बारे में बता रहे हैं। यह रेसिपी बेहद जल्द तैयार हो जाती है और खाने मे भी लाजवाब है। तो चलिए जानते हैं टमाटर पनीर बनाने की विधि के बारे में− सामग्री− दो टेबलस्पून ऑयल एक बाउल स्प्रंगि अनियन दो टेबलस्पून अदरक लहसुन पेस्ट पांच मीडियम साइज टमाटर प्यूरी किए हुए दो से तीन हरीमिर्च नमक लाल मिर्च पाउडर धनिया पत्ते पनीर थोड़ा पानी विधि− टमाटर पनीर बनाने के लिए सबसे पहले एक पैन में तेल गर्म करें। अब आप इसमें थोड़े स्प्र्रंग अिनयिन डालकर हल्का गुलाबी होने तक पकाएं। इसके बाद इसमें अदरक और लहसुन का पेस्ट डालकर चलाएं। इस समय गैस धीमी कर दें। इसके बाद पैन में टमाटर प्यूरी डालकर पकाएं। साथ ही हरी मिर्च, नमक, लाल मिर्च पाउडर डालकर अच्छी तरह मिक्स करें। अब इसमें थोड़ा सा हरा धनिया डालकर चलाएं। आपका पनीर का मसाला अच्छी तरह तैयार है। अब आप इसमें पनीर मिक्स करें। साथ ही इसमें थोड़ा सा

    मॉनसून में बालों की चमक फीकी न पड़े, इसलिए ऐसे रखें इसका ध्यान

    बरसात के मौसम में बाहर घूमने में तो बहुत मज़ा आता है, लेकिन बारिश का पानी बालों की सेहत बिगाड़ देता है। बारिश के मौसम में बाल टूटने और झड़ने की समस्या बढ़ जाती है। ऐसे में मॉनसून में बालों को अतिरिक्त देखभाल की ज़रूरत होती है। बरसात के मौमस में भी अपने बालों को हेल्दी बनाए रखने के लिए आपको कुछ बातों का ध्यान रखना होगा। साफ पानी से धोएं बाल यदि आपके बाल बारिश के पानी में भीग गए हैं तो, घर आने के बाद तुरंत बालों को साफ पानी से धोएं। क्योंकि बारिश के पानी में प्रदूषण और एसिड होते हैं जो बालों को बहुत नुकसान पहुंचाते हैं। धोने के बाद बालों को अच्छी तरह सुखा लें, वरना नमी से बाल और झड़ेंगे। स्टाइलिंग प्रोडक्ट से रहें दूर इस मौसम में स्टाइलिंग प्रोडक्ट का कम से कम इस्तेमाल करें या उनसे दूर रहें तो ही अच्छा है। क्योंकि इनमें मौजूद केमिकल बालों को और रुखा और बेजान बना देते हैं। केमिकल फ्री शैंपू इस मौसम में ड्रैंडफ की वजह से भी बाल ज़्यादा झड़ते हैं, इसलिए बालों की सफाई का खास ध्यान रखें, लेकिन हमेशा केमिकल फ्री माइल्ड शैंपू ही इस्तेमाल करें। केमिकल वाले शैंपू बालों के लिए नु

    कहीं लिपस्टिक लगाते समय आप भी तो नहीं करतीं यह गलतियां

    इस बात में कोई दोराय नहीं है कि लिपस्टिक आपकी मेकअप किट का एक अहम हिस्सा है। अगर आपने मेकअप ना भी किया हो और आप महज लिपस्टिक लगा लें तो चेहरे का पूरा लुक ही बदल जाता है। अमूमन देखने में आता है कि लड़कियां जल्दी−जल्दी में लिपस्टिक लगाती हैं और उस पर ज्यादा ध्यान ही नहीं देतीं, जिसके उन्हें वह लुक नहीं मिल पाता, जो वास्तव में उन्हें चाहिए होता है। अगर आप चाहती हैं कि आपके साथ ऐसा न हो तो आपको कुछ गलतियों से बचना होगा। तो चलिए जानते हैं इसके बारे में− गलत लिपस्टिक का चयन लिपस्टिक लगाते समय की जाने वाली गलतियों में सबसे पहला नंबर आता है गलत लिपस्टिक का चयन। वैसे तो लिपस्टिक का हर कलर अच्छा लगता है, लेकिन आपको कलर हमेशा अपनी डेस और स्किन टोन को कॉम्पलिमेंट करता हुआ ही लेना चाहिए। इतना ही नहीं, मार्केट में एक ही कलर के भी कई शेड्स होते हैं, ऐसे में आपको यह जानना चाहिए कि लिपस्टिक का कौन सा शेड आप पर सूट कर रहा है। गलत लिपलाइनर अक्सर देखने में आता है कि महिलाएं लिपस्टिक के कलर से थोड़ा हटकर या फिर उसी शेड में डार्क कलर को बतौर लिपलाइनर इस्तेमाल करती है। लेकिन ऐसा करना भी आपकी सबसे बड़ी

    दिल्ली के नजदीक हिमाचल प्रदेश की इन जगहों पर होती है स्नोफॉल

    भारत के पहाड़ी राज्यों में हिमाचल प्रदेश एक ऐसा राज्य है जो सबसे ज्यादा विकसित हुआ है यहां की सड़कें, घर, टूरिस्म सब कुछ दुरूस्त है। पहाड़ी प्राकृतिक आपदाओं से ये राज्य आराम से निपट लेता है। हिमाचल प्रदेश के विकास के साथ-साथ यहां का टूरिस्म भी बहुत मजबूत है। साल भर यहां पर्यटकों को तांता लगा रहता है क्योंकि से राज्य है ही बहुत खूबसूरत। यहाँ पर्यटन तेजी से बढ़ रहे उद्योगों में से एक है और यही कारण है कि प्रतिवर्ष राज्य की आय में भी भारी इजाफा हो रहा है। हिमाचल प्रदेश की हर जगह बहुत खूबसूरत है। अगर आप भी हिमाचल प्रदेश की सैर करना चाहते हैं तो हम आपको बताते हैं वहां की कुछ ऐसी जगहों के बारे में जिसे स्वर्ग कहा जाता है। मनाली मनाली हिमाचल प्रदेश का लोकप्रिय हिल स्टेशन है। मनाली व्यास नदी के किनारे बसा है। शहरों की गर्मी से बचने के लिए इस हिल स्टेशन पर हजारों की तादाद में सैलानी आते हैं। सर्दियों में यहां का तापमान शून्य डिग्री से नीचे पहुंच जाता है और जबरदस्त बर्फबारी भी होती है। दिसंबर से जनवरी तक मनाली सफेद चादर में लिपट जाता है। आप यहां के खूबसूरत प्राकृतिक दृश्यों के अलावा मनाली में ह

    बालों के लिए वरदान है केला, इस तरह बनाएं बेहतरीन हेयर पैक्स

    केले की खूबियों से हर कोई वाकिफ है। इसमें पोटेशियम के अतिरिक्त मैग्नीशियम, कैल्शियम, विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन बी6 व अन्य कई पोषक तत्व पाए जाते हैं, जिसके कारण इसे आहार में शामिल करने की सलाह अवश्य दी जाती है। यूं तो लोग हेल्दी रहने के लिए केले का सेवन करते हैं ही, लेकिन इनर हेल्थ के साथ बाहर से खूबसूरत दिखने में भी इसका प्रयोग किया जा सकता है। खासतौर से, केले की मदद से बनाए गए हेयर पैक्स बालों को कई तरह की समस्याओं से निजात दिलाते हैं। तो चलिए जानते हैं केले की मदद से बनने वाले इन हेयर पैक्स के बारे में− रोके हेयर फॉल अगर किसी के बाल बहुत अधिक झड़ते हैं तो बालों को अतिरिक्त मजबूती देने के लिए केले को एलोवेरा के साथ मिक्स करके लगाया जा सकता है। यह बालों को स्ट्रांग बनाने के साथ−साथ शाइनी व बाउंसी भी बनाएगा। इस हेयर पैक को तैयार करने के लिए सबसे पहले एलोवेरा की पत्ती से ताजा जेल निकाल कर उसे दो केले के साथ मिक्स करें। इन्हें अच्छे से मिक्स करने के लिए मिक्सी की मदद भी ली जा सकती है। अगर आपके बाल लंबे हैं तो आप उसके अनुरूप क्वांटिटी रखें। अब एक हेयर ब्रश लेकर उसे बालों की जड़ों, स